Politics

Vice President said creating ruckus is not a democracy | बार-बार सदन स्थगित होने पर बोले उपराष्ट्रपति- हंगामा मचाना लोकतंत्र नहीं, सरकार जवाब देने के लिए बाध्य

Vice President: जामिया मिलिया इस्लामिया के दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कहा कि लोकतंत्र के मंदिरों में व्यवधान और हंगामे को राजनीतिक रणनीति का हथियार नहीं बनाया जा सकता।

मणिपुर में हो रही हिंसा को लेकर संसद में सरकार और विपक्ष आमने सामने हैं। विपक्ष के सांसद संसद के दोनों सदनों में लगातार विरोध प्रदर्शन के कारण कार्यवाही बार-बार स्थगित करनी पड़ रही है। जिस पर अब उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि लोकतंत्र के मंदिरों की छवि धूमिल करने के लिए व्यवधान और हंगामे को रणनीतिक साधन रूपी हथियार बनाया जा चुका है।

व्यवधान और हंगामा लोकतंत्र नहीं हो सकता- उपराष्ट्रपति

जामिया मिलिया इस्लामिया के दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए उपराष्ट्रपति जगदीप धनखड़ ने कहा कि लोकतंत्र के मंदिरों में व्यवधान और हंगामे को राजनीतिक रणनीति का हथियार नहीं बनाया जा सकता। जनता की भलाई के लिए संवाद, चर्चा, विचार-विमर्श और बहस “लोकतंत्र है। निश्चित रूप से व्यवधान और हंगामा लोकतंत्र नहीं हो सकता।

Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Uh oh. Looks like you're using an ad blocker.

We charge advertisers instead of our audience. Please whitelist our site to show your support for Nirala Samaj