Rajasthan

Street Food: पंडित जी के जम्बो पकौड़ों की नहीं है कोई टक्कर, खास दाल किए जाते है तैयार

नरेश पारीक/चूरू. थार का द्वार कहे जाने वाला चूरू अपने मौसम के लिए ही नहीं बल्कि पंडित जी के पकौड़ो के लिए भी काफी मशहूर है. यहां इन जम्बो पकौड़ों का स्वाद चखने वालों का हुजूम उमड़ता है. सावन की रिमझिम बारिश के बीच पंडित जी के इन गर्म-गर्म पकौड़ों की महक किसी को भी दीवाना बना देती है. जिसके चलते यहां पकौड़ो के दीवानों की भीड़ नजर आएगी. आमतौर पर मिलने वाली पकौड़ी से पंडित जी का ये पकौड़ा साइज में ही नहीं बल्कि स्वाद में भी बेहद खास है.

पिछले 8 सालों से शहर की चूरू, जयपुर रोड़ पर जम्बो पकौड़े बनाने वाले विनोद शर्मा बताते है कि उनके यहां दूर-दराज से गरमा-गरम पकौड़ो पर लहसुन की चटनी का स्वाद चखने आते हैं. शहर के अंतिम छोर पर होने के बाद भी पंडित जी के पकौड़ो की दीवानगी लोगों को उन्हें यहां खींच लाती है. पकौड़ा बनाने वाले विनोद शर्मा बताते है कि उनके द्वारा पिछले 8 साल से ये बिग पकौड़े बनाए जा रहे हैं और इन पकौड़ो के स्वाद के चलते उन्हें लोगों का खूब प्यार मिल रहा है. शर्मा बताते है कि इन खास पकौड़ो की उन्होंने कोई रेसिपी सीखी नहीं बल्कि उनके स्वयं के दिमाग की उपज है.

पकौड़े को तीन तरह की दाल से करते हैं तैयार
उन्होंने ने बताया कि एक दो नहीं बल्कि वह तीन तरह की दाल से ये बिग पकौड़े बनाते हैं. जिसमे मोठ की दाल, उड़द की दाल और बेसन का उपयोग करते हैं और आलू, प्याज के साथ ही सीजन की सारी सब्जियां इन पकौड़ो को बनाने के उपयोग में लेते है. शर्मा बताते है कि इसके अलावा वह पकौड़ो की शुद्धता के साथ ही अपने ग्राहकों की सेहत का भी ख्याल रखते है. उनके द्वारा सारे मसालें घर पर ही तैयार किए जाते है. इन गरमा-गरम पकौड़ो का स्वाद बढ़ाने के लिए इनके द्वारा पिसी हुई लाल मिर्ची, लहसुन की चटनी के साथ पकौड़ो पर दही डाला जाता है.

40 ग्राम का एक पकौड़ा
शर्मा बताते है कि उनके इन बिग पकौड़ो की साइज काफी बड़ा है, उनका एक पकौड़ा करीब 40 ग्राम का है. इनके द्वारा 50 रुपए में 250 ग्राम पकौड़ो की एक प्लेट और 100 और 200 रुपए की अलग-अलग दर की प्लेट है. प्रति दिन उनकी 300 से 400 पकौड़ो की प्लेट बिक जाती है और बारिश के मौसम में ये आंकड़ा डबल भी हो जाता है.

Tags: Churu news, Food, Local18, Rajasthan news

Source link

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button

Uh oh. Looks like you're using an ad blocker.

We charge advertisers instead of our audience. Please whitelist our site to show your support for Nirala Samaj